"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"


BREAKING NEWS:-हमारी वेबसाइट पर विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें 9719069776

Monday, 10 October 2022

चार दिवसीय गहन चिकित्सा की वैश्विक काँफ्रेंस में पहुँचेंगे देश विदेश के नामी चिकित्सक

No comments :
बरेली और रामनगर के जिम कार्बेट में गहन चिकित्सा पर होने वाली चार दिवसीय वैश्विक काँफ्रेंस में देश विदेश के नामी चिकित्सक जुटने जा रहे हैं,आर्गनाइजिंग सेक्रेटरी और एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डा.ललित सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह वैश्विक कांफ्रेंस इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर की ओर से एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित की जा रही है। इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर को दुनिया भर के सभी देश मान्यता देते हैं। 13 से आरंभ होने वाली इस अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में पहली बार डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.मिशेल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया), डा.महर अल बहरानी (ओमान), डा.फारिअल अली खामीस (ओमान), डा.संदीप कंतूर (ओमान), डा.प्रशांत नासा (दुबई), डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) जैसे क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ वैश्विक कांफ्रेंस में शामिल होने आ रहे हैं। इसमें अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हमारे नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार हॉस्पिटल्स के अध्यक्ष पद्मविभूषण डा. बीके राव और एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया, एम्स बठिंडा के निदेशक डा.डीके सिंह, नई दिल्ली के पीएसआरआई पल्मोनरी इंस्टीट्यूट, क्रिटिकल केयर एंड स्लीप मेडिसिन से डा. गोपी चंद खिलनानी, बॉम्बे हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर से डा. प्रवीण अमीन, मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल से डा. जे.वी. दिवातिया, नई दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल से डा. राजेश चावला, जेएनयू अस्पताल जयपुर से डॉ नरेंद्र रूंगटा, मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल व चिकित्सा अनुसंधान केंद्र से डा.खुशराव बजन जैसे विशेषज्ञों के साथ देश भर से करीब पांच सौ से ज्यादा विशेषज्ञ डाक्टरों ने भी वैश्विक कांफ्रेंस में आने की सहमति दे दी है। कांफ्रेंस का विषय “सेप्सिस” रखा गया है। इसके साइंटिफिक प्रोग्राम में सेप्सिस के पूरे स्पेक्ट्रम को कवर करते हुए भारत और विदेश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक और चिकित्सक शोधपत्र के जरिये अपनी प्रस्तुतियां देंगे। चार दिवसीय दूसरी वैश्विक कांफ्रेंस 13 अक्टूबर को वर्कशाप के साथ आरंभ होगी। इसका औपचारिक उद्घाटन 14 अक्टूबर दोपहर एक बजे एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया करेंगे। 15 और 16 अक्टूबर को कांफ्रेंस कम वर्कशाप रामनगर के जिम कार्बेट नेशनल पार्क स्थित रिवर व्य् रीट्रीट और वुड कैसल में आयोजित होगी। कांफ्रेंस में पांच वर्कशाप आयोजित होंगी। वैश्विक कांफ्रेंस में नामचीन विशेषज्ञों के आने की बदौलत ही इंडियन मेडिकल काउंसिल (आईएमसी) ने इसे 12 घंटे क्रेडिट दिया है। किसी कांफ्रेंस को अब तक इतने घंटे का क्रेडिट नहीं दिया गया। आईएमसी के नियमानुसार सभी चिकित्सकों को प्रति वर्ष छह घंटे ऐसी वर्कशाप या कांफ्रेंस में शामिल होना जरूरी हैं। तभी वह अपग्रेडेशन के लिए योग्यता हासिल करते हैं। ऐसे में इस वैश्विक कांफ्रेंस का महत्व बढ़ जाता है।

No comments :

Post a Comment