देवभूमि का मर्म

"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"


BREAKING NEWS:-हमारी वेबसाइट पर विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें 9719069776

Tuesday, 18 October 2022

सावधान रहें, फिर पैर पसार रहा है कोरोना

No comments :

नई दिल्ली : ओमिक्रोन के सब वेरियंट BF.7 की भारत मे भी मिलने की पुष्टि के बाद आशंका है कि कोविड के केस फिर से बढ़ सकते हैं. इधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस वायरस के सब वेरियंट के खतरे को लेकर आज स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में दिवाली से पहले कोरोना को लेकर जरूरी एहतियात और सतर्कता बरतने पर जोर दिया गया.

बता दें कि भारत में एक अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रोन सब वेरियंट BF.7 का पता चला है. BF.7 वेरियंट पहले चीन में पाया गया था और अब यह संयुक्त राज्य अमेरिका, यूके, ऑस्ट्रेलिया और बेल्जियम में पहुंच गया है. सब-वेरिएंट पहले मामले का गुजरात में पता चला था, जिसकी पुष्टि गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर ने की थी और इसे 'ओमाइक्रोन स्पॉन' के रूप में वर्णित किया गया था.सब वेरियंट BF.7 को लेकर चिंता है क्योंकि यह पिछले संक्रमणों और टीकों से प्रतिरक्षा को पार कर सकता है. 

पू

रे चीन में मामले BF.7 वैरिएंट से शुरू हुए हैं. वास्तव में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अत्यधिक संक्रामक BF.7 COVID सबवेरिएंट के खिलाफ चेतावनी दी थी. इसने सबवेरिएंट के एक नए प्रमुख संस्करण बनने की भी उम्मीद की है.

Monday, 17 October 2022

वैश्विक काँफ्रेंस में देश विदेश के कृटिकल चिकित्सा विशेषज्ञों के 200 से अधिक व्याख्यान

No comments :
बरेली /रामनगर: श्री राम मूर्ति स्मारक इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित कंप्रिहेंसिव क्रिटिकल केयर की चार दिवसीय दूसरी वैश्विक कांफ्रेंस का रामनगर में शानदार समापन हुआ। जिसमें तीसरे और चौथे दिन 110 से ज्यादा व्याख्यान दिए गए। पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया, पद्मविभूषण डा. बीके राव, डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.माइकल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) के व्याख्यानों को सभी विशेषज्ञों ने सराहा। शनिवार दोपहर बाद वैश्विक कांफ्रेंस का समापन हुआ। इस अवसर पर सभी  डेलीगेट्स ने वैश्विक कांफ्रेंस के लिए एसआरएमएस मेडिकल कालेज, प्रबंधन और यहां के स्टाफ को बधाई दी और रामनगर से वापस हुए। चार दिवसीय वैश्विक कांफ्रेंस में दो सौ से ज्यादा व्याख्यान दिए गए।
वैश्विक कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग कमेटी के सेक्रेटरी और एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभागाध्यक्ष डा.ललित सिंह ने बताया कि कांफ्रेंस का साइंटिफ प्रोग्राम रामनगर में आयोजित हुआ। इससे पहले “सेप्सिस” विषय की थीम पर 13 अक्टूबर को शुरू हुई इस वैश्विक कांफ्रेंस के पहले और दूसरे दिन का कार्यक्रम एसआरएमस मेडिकल कालेज में हुआ था। पहले दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिटिकल केयर विशेषज्ञों की मौजूदगी में क्रिटिकल केयर रिव्यू कोर्स, हीमोडायनोमिक मानीटरिंग, मैकेनिकल वेंटीलेशन, प्वाइंट आफ केयर अल्ट्रासाउंड और नर्सिंग केयर विषय पर पांच वर्कशाप आयोजित हुईं। क्रिटिकल केयर रिव्यू कोर्स के अलग अलग टापिक पर चार सत्रों में तीन दर्जन से ज्यादा विशेषज्ञों ने अपनी राय रखी। वैश्विक कांफ्रेंस का औपचारिक उद्घाटन दूसरे दिन 14 अक्टूबर को नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार हॉस्पिटल्स के अध्यक्ष पद्मविभूषण डा. बीके राव, मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल से डा. जे.वी. दिवातिया और डा.प्रवीण अमीन, डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.माइकल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया) और डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) की मौजूदगी में एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया ने किया।
इस मौके पर जेएनयू अस्पताल जयपुर से डॉ नरेंद्र रूंगटा, एआईसीसीएम के नेशनल प्रेसिडेंट डा.राजेश कुमार मिश्रा, पूर्व प्राचार्य और डीन सीएसजेयू कानपुर डा.एसके कटियार मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल के डा.प्रवीण अमीन, सर गंगाराम हास्पिटल के डा. बनाम्बर रे, डा.जया कुरुविला, एएमयू के डा.सैयद मोइद अहमद, शांतिवेद आईएमएस आगरा की डा.दीप्तिमाला अग्रवाल, सिनर्जी प्लस हास्पिटल आगरा के डा.रणवीर त्यागी, एसआरएमएस मेडिकल कालेज के डायरेक्टर आदित्य मूर्ति, प्रिंसिपल डा.एसबी गुप्ता, वैश्विक कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग कमेटी के सह सचिव डा.राजीव टंडन और डा.गीता कार्की, ज्वाइंट सेक्रेटरी डा.विमल भारद्वाज, डा.अनीस बेग, डा.गजेंद्र पाल सिंह, डा.निपुन अग्रवाल, डा.धीरज सक्सेना, डा.संजीव शर्मा, डा.मनोज गुप्ता, डा.मोहम्मद तारिक, एडिटर डा.पियूष कुमार, ट्रेजरार डा. यतिन मेहता मौजूद रहे।

Sunday, 16 October 2022

टी 20 विश्वकप में बड़ा उलटफेर, एशिया कप चैंपियन श्रीलंका को नामीबिया ने बड़े अंतर से हराया

No comments :
 टी 20 विश्व कप के लीग मैच में बड़ा उल्टफेर् करते हुए नामीबिया ने एशिया कप विजेता श्रीलंका को 55 रनो के बड़े अंतर से हरा दिया, 163 रन का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम केवल 108 रन ही बना सकी. इस तरह से नामीबिया ने श्रीलंका को 55 रनों से हराकर टू्र्नामेंट का धमाकेदार आगाज कर दिया है.  श्रीलंका के खिलाफ नामीबिया ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 7 विकेट पर 163 रन बनाए. नामीबिया की ओर से जे जे स्मिट और जान फ्राइलिंक ने कमाल की पारी खेली जिसके दम पर टीम 162 रन 20 ओवर में बना पाने में सफल रहे. जे जे स्मिट ने 16 गंद पर 31 रन बनाए तो जान फ्राइलिंक ने 28 गेंद पर 44 रन की पारी खेली. श्रीलंका को 164 रन का टारगेट मिला है. श्रीलंका की ओर से  प्रमोद मदुशनी ने 2 विकेट लिए तो वहीं चमीरा,  महेश थेक्षाना  के खाते में 1-1 विकेट आया. इससे पहले  श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया है. बता दें कि सुपर 12 में पहुंचने के लिए श्रीलंका को क्वालीफाइंग मुकाबले के अपने मैच जीतने होंगे. क्वालीफाइंग राउंड से 4 टीमें सुपर 12 के लिए क्वालीफाई करेगी

Monday, 10 October 2022

चार दिवसीय गहन चिकित्सा की वैश्विक काँफ्रेंस में पहुँचेंगे देश विदेश के नामी चिकित्सक

No comments :
बरेली और रामनगर के जिम कार्बेट में गहन चिकित्सा पर होने वाली चार दिवसीय वैश्विक काँफ्रेंस में देश विदेश के नामी चिकित्सक जुटने जा रहे हैं,आर्गनाइजिंग सेक्रेटरी और एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डा.ललित सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह वैश्विक कांफ्रेंस इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर की ओर से एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित की जा रही है। इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर को दुनिया भर के सभी देश मान्यता देते हैं। 13 से आरंभ होने वाली इस अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में पहली बार डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.मिशेल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया), डा.महर अल बहरानी (ओमान), डा.फारिअल अली खामीस (ओमान), डा.संदीप कंतूर (ओमान), डा.प्रशांत नासा (दुबई), डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) जैसे क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ वैश्विक कांफ्रेंस में शामिल होने आ रहे हैं। इसमें अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हमारे नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार हॉस्पिटल्स के अध्यक्ष पद्मविभूषण डा. बीके राव और एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया, एम्स बठिंडा के निदेशक डा.डीके सिंह, नई दिल्ली के पीएसआरआई पल्मोनरी इंस्टीट्यूट, क्रिटिकल केयर एंड स्लीप मेडिसिन से डा. गोपी चंद खिलनानी, बॉम्बे हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर से डा. प्रवीण अमीन, मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल से डा. जे.वी. दिवातिया, नई दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल से डा. राजेश चावला, जेएनयू अस्पताल जयपुर से डॉ नरेंद्र रूंगटा, मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल व चिकित्सा अनुसंधान केंद्र से डा.खुशराव बजन जैसे विशेषज्ञों के साथ देश भर से करीब पांच सौ से ज्यादा विशेषज्ञ डाक्टरों ने भी वैश्विक कांफ्रेंस में आने की सहमति दे दी है। कांफ्रेंस का विषय “सेप्सिस” रखा गया है। इसके साइंटिफिक प्रोग्राम में सेप्सिस के पूरे स्पेक्ट्रम को कवर करते हुए भारत और विदेश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक और चिकित्सक शोधपत्र के जरिये अपनी प्रस्तुतियां देंगे। चार दिवसीय दूसरी वैश्विक कांफ्रेंस 13 अक्टूबर को वर्कशाप के साथ आरंभ होगी। इसका औपचारिक उद्घाटन 14 अक्टूबर दोपहर एक बजे एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया करेंगे। 15 और 16 अक्टूबर को कांफ्रेंस कम वर्कशाप रामनगर के जिम कार्बेट नेशनल पार्क स्थित रिवर व्य् रीट्रीट और वुड कैसल में आयोजित होगी। कांफ्रेंस में पांच वर्कशाप आयोजित होंगी। वैश्विक कांफ्रेंस में नामचीन विशेषज्ञों के आने की बदौलत ही इंडियन मेडिकल काउंसिल (आईएमसी) ने इसे 12 घंटे क्रेडिट दिया है। किसी कांफ्रेंस को अब तक इतने घंटे का क्रेडिट नहीं दिया गया। आईएमसी के नियमानुसार सभी चिकित्सकों को प्रति वर्ष छह घंटे ऐसी वर्कशाप या कांफ्रेंस में शामिल होना जरूरी हैं। तभी वह अपग्रेडेशन के लिए योग्यता हासिल करते हैं। ऐसे में इस वैश्विक कांफ्रेंस का महत्व बढ़ जाता है।

आफत की बारिस ने यहाँ लील ली जिंदगी

No comments :
 आफत बन कर बरस रही बारिस ने प्रदेश में बुरा हाल कर रखा है, किसानों की पकी हुई फसल चौपट हो चुकी है,कई सड़के बंद हैं तो अनेक स्थानों पर भूस्खलन से लोगो को नुक्सान हुआ हैअल्मोड़ा जिले के सल्ट के पीपना गांव में लक्ष्मण सिंह ( 55 वर्ष) के मकान के पिछले हिस्से में मध्यरात्रि बाद पहाड़ी दरक गई।जिसकी चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। हादसे के समय लक्ष्मण सिंह की पत्नी और पुत्र दूसरे मकान में सोने चले गए थे। इससे उनकी जान तो बच गई मगर आफत की बारिस ने महिला का सुहाग व पुत्र के सिर से पिता का साया छीन लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मलबे में दबे शव को निकालकर पोस्टमार्टम को भेजा। घटना से मृतक के परिजनों में कोहराम मचा है।

Thursday, 6 October 2022

कमजोर दिल वाले न देखें, तस्वीर विचलित कर सकती है, नानकमत्ता के गाँव में गुलदार ने बालिका को बनाया निवाला, मिला क्षत विक्षत शव

No comments :
धम सिंह नगर जिले के नानकमत्ता में गुलदार ने 10 साल की बालिका को मार डाला। ग्रामीणों ने बालिका का शव गन्ने के खेत से बरामद किया है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामे की कार्यवाही की है। मासूम की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया वहीं इलाके में दहशत फैल गई।जानकारी देते हुए प्रतापपुर चौकी इंचार्ज विजेंदर कुमार ने बताया कि गुरुवार की शाम वासुदेव जोशी की 10 साल की बेटी आनंदी जोशी निवासी लगभग 5 बजे चेतुआखेड़ा देवीपुर डेम पार अचानक लापता हो गई। बेटी लापता होने पर परिजन उसे खोजते रहे लेकिन वह कही नहीं मिली। धीरे-धीरे खबर पूरे गांव में फैल गई। इसके बाद ग्रामीणों ने खेतों में खोजबीन की तो गन्ने के खेत से गुलदार की गुर्राहट की आवाजें आने पर ग्रामीणों ने घेराबंदी कर दी। जैसे ही ग्रामीण गन्ने के खेत में घुसे तो वहां बालिका का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ। ग्रामीणों आहट सुनकर गुलदार जंगल की तरफ भाग गया।प्रधान रमेश यादव ने बालिका का गन्ने के खेत में शव मिलने की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर की टीम और पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए खटीमा भेज दिया है। बालिका के शरीर पर पंजों के निशान हैं। जिससे पता चल रहा है कि तेंदुए के हमले में बालिका की मौत हुई है। बालिका के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। ग्रामीणों ने पीड़ित परिवार को मुआवजा देने के साथ गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने की मांग की है।

थाईलैंड में बच्चों के डे-केयर सेंटर में गोलीबारी, 22 बच्चों समेत 34 की मौत

No comments :
थाईलैंड में गुरुवार को एक डे-केयर सेंटर में एक पूर्व पुलिसकर्मी द्वारा की गई गोलीबारी में 34  लोगों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि हमलावर ने खुद को गोली मारने से पहले अपनी पत्नी और बच्चे को भी मार डाला.   इस घटना से थाईलैंड के लोग दहशत में हैं.

22 बच्चों की मौत का कारण बनने वाले इस पूर्व पुलिसकर्मी को नशीली दवाओं से संबंधित कारणों की वजह से सेवाओं से छुट्टी दे दी गई थी. जिला अधिकारी जिदापा बूनसोम ने रायटर को बताया कि जब बंदूकधारी डे-केयर में आया तो उस समय दोपहर के भोजन का समय था और लगभग 20 बच्चे केंद्र में थे.

जिदापा ने कहा कि उस व्यक्ति ने पहले आठ महीने की गर्भवती एक शिक्षिका सहित चार या पांच कर्मचारियों को गोली मारी. पहले तो लोगों को लगा कि यह आतिशबाजी है. सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में उत्तरपूर्वी प्रांत नोंग बुआ लम्फू के उथाई सावन शहर के केंद्र में खून से लथपथ बच्चों के शवों को ढकने वाली चादरें दिखाई दे रही हैं. रायटर अभी इन वीडियोज को प्रमाणिक नहीं कर सकता. इससे पहले पुलिस ने कहा कि शूटर की तलाश की जा रही है और एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपराधी को पकड़ने के लिए सभी एजेंसियों को सतर्क कर दिया है.
थाईलैंड में गन ऑनरशिप की दर कुछ अन्य देशों की तुलना में अधिक है. अवैध हथियार भी यहां आम हैं. बता दें कि थाईलैंड में इस तरह की बड़ी गोलीबारी की घटना कम ही होती हैं, लेकिन 2020 में भी एक प्रोपर्टी डील से नाराज सैनिक की चार स्थानों पर की गई फायरिंग में कम से कम 29 लोग मारे गए थे और 57 लोग घायल हो गए थे.

Wednesday, 5 October 2022

शांति का नोबेल पुरस्कार जीतने की रेस में दो भारतीय चल रहे आगे

No comments :
ओस्‍लो: दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित नोबेल शांति पुरस्‍कार का शुक्रवार को नार्वे की राजधानी ओस्‍लो में ऐलान किया जाएगा। रायटर्स के सर्वेक्षण के मुताबिक इस साल जिन लोगों के नाम सबसे ऊपर चल रहे हैं, उनमें भारत की फैक्‍ट चेकिंग वेबसाइट अल्‍ट न्‍यूज के संस्‍थापक प्रतीक सिन्‍हा और मोहम्‍मद जुबैर भी शामिल हैं। नोबेल शांति पुरस्‍कार के विजेता का चयन नार्वे के नोबल समिति के 5 सदस्‍यों की ओर से किया जाएगा। इन सभी पांचों सदस्‍यों की नियुक्ति नार्वे की संसद ने की है। भारत के प्रतीक सिन्‍हा और मोहम्‍मद जुबैर के अलावा विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन, म्‍यांमार की राष्‍ट्रीय एकता सरकार, बेलारूस की विपक्षी नेता सवितलाना भी शामिल हैं।
अमेरिकी पत्रिका टाइम ने प्रतीक सिन्‍हा और मोहम्‍मद जुबैर के बारे में लिखा है, 'पत्रकार प्रतीक सिन्‍हा और मोहम्‍मद जुबैर फैक्‍ट चेकिंग वेबसाइट अल्‍ट न्‍यूज के संस्‍थापक हैं। ये दोनों ही भारत में फर्जी सूचनाओं का खुलासा करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सिन्‍हा और जुबैर सुव्‍यवस्थित तरीके से सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों और फेक न्‍यूज पर विराम लगा रहे हैं।' जुबैर को एक विवादित ट्वीट करने के आरोप में जून महीने में अरेस्‍ट किया गया था। हालांकि बाद में उन्‍हें कोर्ट से जमानत मिल गई।
नोबेल शांति पुरस्‍कार की स्‍थापना साल 1895 में स्‍वीडन के केमिस्‍ट अल्‍फ्रेड नोबेल ने किया था। अल्‍फ्रेड नोबेल ने ही डायनामाइट की खोज की थी। दुनिया में नोबेल शांति पुरस्‍कार को सबसे प्रतिष्ठित सम्‍मान माना जाता है। इस पुरस्‍कार को उस व्‍यक्ति को दिया जाता है जिसने 'मानवता के लिए सबसे हितकारी काम किया है।' पर्यावरण के लिए काम करने वाले चर्चित कार्यकर्ता ग्रेटा थर्नबर्ग भी इस पुरस्‍कार के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। भारत में नोबेल शांति पुरस्‍कार विजेता लोगों में मिशनरीज ऑफ चैर‍टीज की मदर टेरेसा और कैलाश सत्‍यार्थी शामिल हैं।

Saturday, 1 October 2022

कानपुर में भयानक हादसा, मंदिर से लौट रहे 25 श्रधालुओं की मौत

No comments :
यूपी के कानपुर जिले में शनिवार की देर शाम बड़ा हादसा हो गया। 40 श्रद्धालुओं से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली में तालाब में जा गिरी गई। ट्रॉली में सवार सभी श्रद्धालु तालाब के पानी में डूब गए। हादसे के बाद श्रद्धालुओं में चीख-पुकार मच गई। अब तक 25 लोगों के मरने की सूचना है जबकि दो दर्जन से अधिक घायल हैं। गंभीर हालत में कई को हैलट भेजा गया है। एसपी कानपुर आउटर समेत छह थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को तालाब से निकालकर अस्पताल भेजा जा रहा है। वहीं, मुख्यमंत्री ने हादसे पर शोक जताते हुए अफसरों को घायलों के यथोचित उपचार के निर्देश दिए हैं।कोरथा गांव निवासी राजू निषाद शनिवार को अपने एक साल के बेटे का मुंडन संस्कार कराने के लिए परिवार समेत 35-40 लोगों को लेकर बक्सर घाट उन्नाव स्थित चंद्रिका देवी मंदिर में मुंडन कराने जा रहा था। सभी लोग ट्रैक्टर ट्राली में सवार थे। शनिवार रात सभी लौट रहे थे कि तभी साढ़ और गंभीरपुर गांव के बीच ट्रैक्टर-ट्रॉली अनियंत्रित होकर तालाब में पलट गई। रात नौ बजे तक पुलिस 25 शवों को निकाल लिया था। अभी भी तालाब में तलाश जारी है।

पुलिस अधिकारियों ने हैलट समेत अन्य अस्पतालों और 108 से एम्बुलेंस के लिए बुलवाया। एक दर्जन एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और वहां से घायलों को लेकर सीएचसी और हैलट अस्पताल भिजवाया गया।