देवभूमि का मर्म

"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Saturday, 21 May 2022

छाता रोक पायेगा सूरज को,या कुर्सी का होगा खेल?:खटीमा व्यापार मंडल चुनाव

No comments :
खटीमा 
व्यापार मंडल चुनाव की तारीख जैसे जैसे नजदीक आ रही है प्रत्याशियों के दिल की धड़कने भी तेज होती जा रहीं है।इस बार अध्यक्ष पद पर बहुत दिलचस्प मुकाबला होने जा रहा है लगातार दो दशक से व्यापार मंडल पर एकछत्र राज कर रहे और उगता सूरज चुनाव चिन्ह के साथ मैदान में उतरे अरुण सक्सेना को इस बार दोहरी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है छाता चुनाव चिन्ह के साथ ताल ठोक रहे व्यवसाई व सामाजिक कार्यकर्ता गौरीशंकर अग्रवाल उन्हें मजबूत चुनौती देते हुए दिख रहे हैं तो मुस्लिम समुदाय में लोकप्रिय कुर्सी चुनाव चिन्ह के साथ लड़ रहे नासिर खान भी मुक़ाबले को त्रिकोणीय बना रहे हैं।अरुण जहां व्यपारियो का साथ देने के लिए दिन रात हर समय हर जगह उपलब्धता के लिए जाने जाते हैं तो गौरी सामाजिक व धार्मिक कार्यक्रमों की अगुवाई करने के चलते लोकप्रिय हैं।वहीं नासिर खान भी अल्पसंख्यक वर्ग के बीच मे अच्छा खासा प्रभाव रखते हैं।ऐसे में अरुण के सूरज की गर्मी को गौरी का छाता रोक पाने में कितना कामयाब होता है,या नासिर की कुर्सी  उलटफेर करने में कितना कामयाब हो पाती है ये देखना दिलचस्प होगा।अन्य पदों पर चर्चा अगले आलेख में-------

चम्पावत में घबराहट में दिख रही है भाजपा:करन मेहरा

No comments :
खटीमा
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन मेहरा,पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह,विधायक आदेश चौहान, उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पीलीभीत रोड पर स्थित कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।इस दौरान पत्रकारों से वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष मेहरा ने कहा कि चारधाम यात्रा जो कि उत्तराखंड की पहचान है भाजपा सरकार के कुप्रबंधन के चलते दुखदाई बन चुकी है जिसका प्रमाण 19 दिनों में 52 मौतों का होना है,यात्रा में न तो पार्किंग की सुविधा है न शौचालयों की,न ही पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन सिलेंडरों व कार्डियक डॉक्टरों की।मनमाने ढंग से यात्रा रोक कर यात्रियों की और मुसीबत बढाई जा रही है,कांग्रेस ने यात्रा शुरू होने पर जब इंतजामो के बारे में चेताया था तो सरकार ने पुख्ता इंतजाम होने की बात कहते हुए विपक्ष का मख़ौल उड़ाया था आज यात्रा के दौरान लगातार हो रही मौतों ने सरकार के पुख्ता इंतजामो की पोल खोल दी है।मेहरा ने कहा कि चम्पावत उपचुनाव में भाजपा का डर साफ दिख रहा है,भाजपा द्वारा बनबसा में कांग्रेस के दो चुनाव कार्यालयों को बंद करा दिया जाना भाजपाइयों के डर का साफ प्रमाण है,उन्होंने कहा कि विपक्षियों का चुनाव कार्यालय बन्द करवा देना उनकी नजरों में पहली घटना है जो साबित करता है कि ये लोग लोकतंत्र का खात्मा करने पर उतारू हैं।उन्होंने खटीमा में भी सरकारी तंत्र के द्वारा कांग्रेस समर्थकों व आम नागरिकों के दमन का आरोप लगाया।मेहरा ने कहा कि अभी सत्ता की हनक में भले ही कितनी ज्यादतियां कर ले लेकिन जनता देर सबेर इन्हें सबक जरूर सिखएगी।इस दौरान,ब्लॉक अध्यक्ष बॉबी राठोर, रवीश भटनागर,अरविंद कुमार,देवेन्द्र कन्याल, नरेंद्र आर्य,माधव चंद,पंकज टम्टा,कृष्णा नेगी,रेखा सोनकर, राजू सोनकर,राजकिशोर सक्सेना आदि मौजूद रहे।

Sunday, 1 May 2022

वैक्सीनेशन के लिए बाध्य नहीं कर सकती सरकार:सुप्रीम कोर्ट

No comments :
नई दिल्ली : 

कोविड वैक्सीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की ओर से बड़ा फैसला आया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि किसी को भी वैक्सीनेशन के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है. लेकिन सरकार नीति बना सकती है और बड़े सार्वजनिक अच्छे और स्वास्थ्य के लिए कुछ शर्तें लगा सकती है. सरकार शारीरिक स्वायत्तता के क्षेत्रों में नियम बना सकती है.  वर्तमान वैक्सीनेशन नीति को अनुचित नहीं कहा जा सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि यह अदालत संतुष्ट है कि वर्तमान वैक्सीन नीति को स्पष्ट रूप से मनमानी नहीं कही जा सकती. शारीरिक स्वायत्तता जीने के मौलिक अधिकार के तहत आती है. अदालत के पास वैज्ञानिक सबूतों पर फैसला करने की विशेषज्ञता नहीं है. अगर कोई स्पष्ट मनमानी हो तो अदालत फैसला दे सकती है. 

जस्टिस एल नागेश्वर राव और जस्टिस बीआर गवई की बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा है कि वैक्सीन को लेकर अदालत दखल देने को इच्छुक नहीं है. एक्सपर्ट की राय पर सरकार द्वारा लिए गए नीतिगत फैसले में न्यायिक समीक्षा का दायरा सीमित है.