देवभूमि का मर्म

"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Sunday, 2 August 2020

भाषाई अस्मिता के संघर्ष को फिर से धार देंगे धामी।

No comments :
फोटो-
हर स्तर पर अंग्रेजी की अनिवार्यता खत्म कर राष्ट्रभाषा हिंदी और मातृ भाषा लागू हो
अखिल भारतीय भाषा संरक्षण संगठन के राष्ट्रीय सचिव धामी ने किया नई शिक्षा नीति का स्वागत
बोले, लाॅकडाउन के बाद इस मुद्दे को सरकार के समक्ष उठाएंगे 
खटीमा। भाषाई अस्मिता के लिए संघर्षरत अखिल भारतीय भाषा संरक्षण संगठन के राष्ट्रीय सचिव रवींद्र सिंह धामी ने कहा कि हिंदी भाषा को लेकर लड़ी गई लड़ाई के फलस्वरूप आज शिक्षा नीति में बदलाव देखकर बहुत खुशी हुई है। देर से ही सही मोदी सरकार ने शिक्षा नीति को लेकर आज जो फैसला लिया है वह स्वागत योग्य है। उन्होंने यूपीएससी समेत सभी परीक्षाओं में भी अंग्रेजी की अनिवार्यता समाप्त कर राष्ट्र भाषा हिंदी समेत भारतीय भाषा लागू की करने की मांग की।
नई शिक्षा नीति का स्वागत करते हुए अंग्रेजी की अनिवार्यता हर स्तर पर समाप्त कर मातृभाषा को बढ़ावा देने के लिए संघर्षरत रवींद्र सिंह धामी ने कहा कि भाषा आंदोलन में शामिल उनकी मांगों में मैकाले की शिक्षा व्यवस्था को बदलकर मातृभाषा में शिक्षा देने की मांग भी थी, जो आज मोदी सरकार ने पूरी की है। मैकाले की शिक्षा नीति को बदलने की अब तक कोई हिम्मत नहीं जुटा पाया। 
धामी ने कहा कि मैकाले की शिक्षा नीति देश से भारतीय सनातन संस्कृति को धीरे-धीरे खत्म कर रही थी, क्योंकि मैकाले ने भारत में अंग्रेजीयत की शिक्षा नीति लागू की थी। उन्होंने कहा कि बच्चों का बौद्धिक और मानसिक विकास मातृभाषा में ही बेहतर होता है। लिहाजा, मातृभाषा में प्राथमिक शिक्षा होने से इसके सार्थक नतीजे बहुत जल्द सामने आएंगे। साथ ही भारतीय संस्कृति की वाहक भारतीय भाषाओं को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि गांधीजी ने भी मातृभाषा में प्राथमिक शिक्षा की जरूरत बताई थी।
90 के दशक में हुए भाषा आंदोलन के बाबत धामी ने कहा कि अखिल भारतीय भाषा संरक्षण संगठन के बैनर तले 12 मई 1994 को अपनी मातृ भाषा के लिए दिल्ली में संघ लोक सेवा आयोग के समक्ष ऐतिहासिक धरना दिया था, जिसमें पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह, अटल विहारी वाजयेपी, उप प्रधानमंत्री देवीलाल आदि समेत कई नेता, संपादक और साहित्यकार शामिल हुए थे। इस दौरान आंदोलनकारी कई बार गिरफ्तार हुए और तिहाड़ जेल तक गए, लेकिन कदम पीछे नहीं हटाए, नतीजतन अंग्रेजीयत बेनकाब हुई और भारतीय भाषा को बढ़ावा मिला।
उन्होंने कहा कि 90 के दशक में अंग्रेजीयत के खिलाफ ऐतिहासिक आंदोलन में शामिल रही शक्तियों के आगे आने के बाद ही मातृभाषा को लेकर ही इस पर विचार मंथन तेज हुआ। उन्होंने मांग की कि जिस तरह नई शिक्षा नीति बनाई गई है, उसी तरह यूपीएससी समेत सभी परीक्षाओं में भी हिंदी समेत भारतीय भाषाएं लागू की जाए। उन्होंने मोदी सरकार और भाषा आंदोलन के समर्थकों से आग्रह किया कि यूपीएससी समेत सभी परीक्षाओं में अंग्रेजी की अनिवार्यता समाप्त करने की पहल करें। आम आदमी की सोच की तरह अगर आम आदमी के लिए नीतियां बनेंगी तो भारत फिर विश्व गुरू बन सकता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही यूपीएससी समेत अन्य परीक्षाओं में भी अंग्रेजीयत का वर्चस्व खत्म करने के लिए लाॅकडाउन के बाद दिल्ली में सरकार के समक्ष मामला उठाया जाएगा।

Thursday, 30 July 2020

उत्तराखंड बोर्ड में भी छाए रहे खटीमा क्षेत्र के मेधावी

No comments :

राणाप्रताप इंटर कालेज रहा अब्बल खटीमा। उत्तराखंड विद्यालय षिक्षा परिषद के घोषित उत्तराखंड बोर्ड के परीक्षा परिणाम में राणा प्रताप इंटर कॉलेज के हाईस्कूल में तीन व इंटर की छात्राओं ने प्रदेष की मैरिट लिस्ट में स्थान प्राप्त किया है। हाईस्कूल में शोएब अंसारी ने 96.2 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रदेष मेरिट में दसवां स्थान, दीया असवाल ने 94.6 प्रतिशत अंक हासिल कर 19वां स्थान तथा अमित गुप्ता ने 93.4 प्रतिषत अंक हासिल कर प्रदेष की मेरिट लिस्ट में 24वां स्थान प्राप्त किया। इंटरमीडिएट में विद्यालय की कुमारी अंजलि सिंह 94.4 प्रतिषत अंक हासिल कर प्रदेष की मैरिट लिस्ट में छठा स्थान प्राप्त किया। छात्र-छात्राओं की इस सफलता पर विद्यालय प्रबंधक गीता राम बंसल, सहप्रबंधक राजीव अग्रवाल, कोषाध्यक्ष संतोष अग्रवाल, प्रधानाचार्य रविंद्र प्रकाष पंत, प्रवक्ता संजय कार्की, हरिष चंद्र मठपाल, देवकी नंदन परगाई, ललित मोहन जोषी, डीएस राजपूत, दीपक चंद्र गहतोड़ी, सुनीता गंगवार, रष्मि सिंह, हेमलता कांडपाल, रजनी, आकांक्षा चौहान, महेष चंद्र जोषी ने बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की।
डायनेस्टी का जलवा बरकरार डॉयनेस्टी मॉडर्न गुरूकुल एकेडमी के इण्टरमीडिएट परीक्षा मे अमन तिवारी 93.4 प्रतिषत अंक लाकर प्रदेष की मेरिट सूची मे 11 वां स्थान अमित सिंह मेहरा ने 92.4 प्रतिषत अंक लाकर प्रदेश की मेरिट सूची मे 16 वां स्थान हासिल किया है। वही हाईस्कूल की परीक्षा मे हिमान्शु सिंह ने 96.2 प्रतिशत लाकर प्रदेश की मेरिट सूची मे 10 वां स्थान, सपना मौर्या व मुकेश मुरारी ने 94.4 प्रतिशत प्राप्त कर 19 वां स्थान व मोहम्मद सोहेल ने 94.2 प्रतिशत अंक लाकर प्रदेष के मेरिट सूची मे 20 वां स्थान प्राप्त किया है। विद्यालय के प्रबन्ध निदेशक धीरेन्द्र भट्ट ने बताया कि विद्यालय के इंटरमीडिएट व हाईस्कूल का परीक्षाफल षत-प्रतिषत रहा। छात्रों के इस कामयाबी पर विद्यालय प्रधानाचार्या अन्जू भट्ट, डॉयरेक्टर प्रेमा भट्ट, चन्द्रकान्त पनेरू, मनीष चन्द, सुरेश चन्द ओली, अशोक जोशी आदि ने बधाई दी।
खीमा देवी इंटर कालेज भी छाया रहा उत्तराखंड बोर्ड में खीमा देवी इंटर कालेज गौझरिया के छात्र छात्राओ ने भी जोरदार प्रदर्शन किया है ,हाईस्कूल में कमलदीप भट्ट ने 96.6% अंको के साथ प्रदेश की मेरिट में दंसवा स्थान ,राजदीप सिंह ने 94.6% के साथ 18 वा स्थान ,रिया शर्मा ने 94.4% अंको के साथ प्रदेश में 19वा स्थान प्राप्त किया है वही इंटर में विशाल कफलिया ने विज्ञान वर्ग में 92.6% अंको के साथ प्रदेश में 15वा राधिका गोस्वामी ने कला वर्ग में 91.6% अंको के साथ प्रदेश में 20 वा स्थान प्राप्त किया इसके अलावा कपिल राना,प्रशांत सिंह ,रितेश भट्ट ,दीपक गह्तोडी,पुनीत सिंह ,कल्पना भट्ट,अभिषेक राणा सौरभ सिंह,भूमिका बिष्ट,लक्ष्मी सामंत ने भी बेहतरीन प्रदर्शन कर विद्यालय का नाम रोशन किया है विद्यालय की प्रधानाचार्या दीपा बिष्ट ने इस अवसर पर सफल छात्र छात्राओ को मिठाई खिलाकर उन्हें बधाई दी.
हेल्प लाईन ने भी दिखाया दम हेल्पलाइन पब्लिक स्कूल का उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा की *हाई स्कूल परीक्षा का परिणाम 100% रहा। हाई स्कूल स्तर पर, केवल 3 छात्रों ने परीक्षा दी, जिसमें सभी तीनो छात्र छात्रायें सम्मान के साथ उत्तीर्ण हुए, विद्यालय की निशा फातिमा ने पहला स्थान 90.6% प्राप्त किया।* *चमन बी को दूसरा स्थान 79.4% और आरिफ़ को 77% प्राप्त हुआ* *हेल्पलाइन पब्लिक स्कूल के प्रबंधक प्रवीन अग्रवाल ने कहा कि उन्हें इस तरह के शानदार छात्र छात्राओं जैसे मिस निशा फातिमा पर गर्व है जिन्होंने उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा में 90.6% अंक प्राप्त करके पूरे विद्यालय को गौरवान्वित किया है।*
इसके अतिरिक्त क्षेत्र के सरस्वती पब्लिक स्कूल,विद्या मंदिर आदर्श भारती,स्प्रिंग फील्ड स्कूल बनबसा के शहीद उत्तम चंद स्कूल सहित विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है भाजपा नेता नवीन बोरा ने गरीब छात्र का बढाया होंसला उत्तराखंड बोर्ड से हाई स्कूल मे 92% नंबर लाकर नाम रोशन करने वाले छात्र अभिषेक जो कि अपने पिता के साथ सब्जी की दुकान चलाने मे मदद करता है। ऐसी परिस्थिति मे अभिषेक ने अपने घर वालो का नाम रोशन करने पर वरिष्ठ भाजपा नेता नवीन बोरा जी एवं जगत सिंह बोरा जी ने अभिषेक को इस उपलब्धि पर मिष्ठान खिलाकर डायरी एवम कलम देकर सम्मानित किया,तथा उज्जवल भविष्य की कामना की,,एवम भविष्य में अध्ययन हेतु फीस व कापी किताबों के साथ ही अन्य किसी भी समस्या पर पूर्ण मदद का भरोसा दिलाया,,एवं अभिषेक के योग अध्यापक बाबा बिमलेश को भी सम्मानित किया।
गरीबी भी नहीं रोक पाई होनहारों की राह यदि बच्चे में होंसला हो तो थोड़ा सा भी सहारा मिलने पर वह बड़ा मुकाम हासिल कर सकता है इसके ताजा उदाहरण डायनेस्टी के ये दो छात्र हैं। मुकेश मुरारी के पिताजी का स्वर्गवास हो गया एवं माताजी लंबी बीमारी से जूझ रही है। यह बच्चा गडिगोट वनबसा का रहने वाला है।विद्यालय ने बच्चे को निशुल्क शिक्षा तथा किताबें व यूनिफार्म भी प्रदान की मुकेश ने भी परिजनों व गुरुजनों को निराश नही किया हाईस्कूल परीक्षा में उसे 94.4%अंक मिले है और प्रदेश मेरिट में भी स्थान बनाया है। वहीं शारदा नहर के पार नेपाल के मझगांव में रहने वाले छात्र अमन तिवारी है छोटे किसान एवं मजदूर परिवार के इस बच्चे ने बिना किसी ट्यूशन के इंटर की मेरिट में स्थान बनाया। बिजली न होने के कारण मोमबत्ती एवं बत्ती से रात को पढ़ाई की। इस बच्चे का विद्यालय पहुंचना इतना आसान न था।शारदा नहर एवं जंगल पार करके साइकिल से विद्यालय आते थे।

Tuesday, 28 July 2020

सुशांत सिंह राजपूत केस में आया नया मोड़

No comments :
सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज कराई FIR, खाते से 17 करोड़ रुपये निकालने का आरोप-

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने पटना के राजीवनगर के थाने ने अभिनेत्री और सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है. रिया पर प्यार में सुशान्त को फंसाकर उसके खाते से पैसे निकालने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. मुकदमा संख्या 241/20 है. पटना से चार पुलिस वालों की टीम मुंबई पहुंच गई है.

चाय पर आने में असमर्थ बलूनी प्रियंका गाँधी को बुलाएँगे खाने पर।

No comments :

कई न्यूज चैनलों व पोर्टलों द्वारा सांसद बलूनी द्वारा प्रियंका के चाय आमंत्रण को विनम्रता से ठुकराने को ऐसा प्रचारित किया जा रहा है जैसे कि बलूनी ने चाइना से आ रही मिसाइल को बीच में ही काट दिया हो। वास्तवमे सांसद अनिल बलूनी ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए चाय आमंत्रण विनम्रता से ठुकराते हुए उन्हें भविष्य में सपरिवार भोजन पर बुलाने का वादा किया है।देखिये पत्र।
श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा जी।
आपका पत्र मिला। आभारी हूं। आपके संज्ञान में लाना चाहूंगा कि मैं लंबे समय तक कैंसर के उपचार के बाद दिल्ली लौटा हूं और चिकित्सकों की देखरेख में उपचार कर रहा हूं। उनके निर्देशन में घर पर ही आइसोलेशन में रहकर स्वास्थ्य लाभ कर रहा हूं। मैं पूर्ण स्वस्थ होकर शीघ्र ही आपको सपरिवार भोजन पर आमंत्रित करूंगा जिसमें आपको मेरे उत्तराखंड के पारंपरिक व्यंजन मंडुवे की रोटी, झंगोरे की खीर,पहाड़ी रायता,भट्ट की चुड़कानी का रसास्वादन मिलेगा। आपका पुनः आभार आपने मुझे आमंत्रित किया। अनिल बलूनी 27 जुलाई 2020