"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Sunday, 2 July 2017

पहली बरसात में ही बने नरक जैसे हालात

No comments :
खटीमा।शासन व प्रशासन द्वारा मानसून आने पर होने वाली परेशानियों ने निबटने के लिए किये गए तमाम हवाई दावों और खानापूर्ति की पोल मानसून के दस्तक देते ही खुल गई.
शनिवार रात से हो रही मुसलाधार बारिश से क्षेत्र के नदी व नाले उफान में बहने लगे। लगातार बारिश के चलते नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति हो गई। खटीमा नगर में हुए जलभराव ने नगरपालिका की पोल खोल दी। सितारगंज रोड पर नालियों के चैक होने से एनएच 125 में चार से पांच फुट पानी भर गया। हाईवे के लबालब भरे होने से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रविवार की सुबह से एसडीएम ने चैक नालियों को खुलवाया। जिसके बाद पानी की निकासी हो सकी। शनिवार की रात से हो रही बारिश के चलतेे कोतवाली से लेकर कंजाबाग तिराहे तक सितारगंज रोड पर लबालब पानी भर गया। वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भी तीन फीट पानी भरने से मरीजों व तीमारदारों को खासी दिक्कतें उठानी पड़ी। इधर अमाऊं, कंजाबाग, हिल व्यू कालोनी, राजीव नगर में भी जलभराव के चलते ग्रामीण परेशान रहे। एसडीएम विजयनाथ शुक्ल ने सितारगंज रोड में भरे पानी की निकासी को लेेकर नगरपालिका कर्मियों व जेसीबी से चोक नालियों को खुलवा कर पानी की निकासी कराई। इसी बीच वारिश भी थम गई जिससे सितारगंज रोड व सीएचसी में भरे पानी की निकासी होने से जल भराव घट गया। हाईवे में पानी भरने से सड़क जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो गई। जिसके चलते लोगों को आवागमन में खासी परेषानी उठानी पड़ी। एसडीएम षुक्ल ने नगरपालिका प्रषासन को नगर में चोक नालियों को तत्काल खोलने के निर्देष दिये है। उन्होंने कहा कि जो लोग नालियों के ऊपर अतिक्रमण कर बैठे उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी। इधर श्रीपुर विछवा में परवीन नदी के उफान के चलते खेरा घाट पर बना पुल क्षतिग्रस्त हो गया। पुल के क्षतिग्रस्त होने से ग्रामीणों को आवागमन में खासी दिक्कते उठानी पड़ी।

No comments :

Post a Comment