"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Saturday, 6 May 2017

परीक्षा के लिए ऐसी जाँच कि अमेरिकी एफ बी आई को भी पसीना आ जाये

No comments :
सीबीएसई की ओर से रविवार को राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट यूजी) 2017 कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुई। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से नकल की रोकथाम के लिए परीक्षा केंद्रों पर व्यापक सुरक्षा इंतजाम किए गए। 25 साल से अधिक आयु के विद्यार्थियों भी इस टेस्ट में बैठा रहे हैं... - ब्लू ट्रुथ से नकल की आशंका को देखते हुए परीक्षा केंद्रों के बाहर छात्राओं की चुन्नियां उतरवाई गईं। कानों में पहनी बालियां व नाक की लौंग के साथ ही उनके गले में पड़े मन्नत के धागे व नेकलेस आदि भी उतरवाए लिए गए। - परीक्षा केंद्रों पर छात्रों के जूते उतरवा लिए गए और नंगे पांव ही तपती जमीन पर इन छात्रों को परीक्षा हाल तक जाना पड़ा। - मेडिकल व डेंटल कॉलेजों में प्रवेश के लिए अजमेर समेत देश के 103 शहरों में ली जा रही इस परीक्षा में बैठने वाले विद्यार्थियों के परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने का सिलसिला सुबह 7.30 बजे से ही शुरू हो गया था। - परीक्षा केंद्रों के बाहर विद्यार्थियों के साथ ही उनके अभिभावकों का भी जमावड़ा था। अजमेर के माकड़वाली रोड स्थित एक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने पहुंचे विद्यार्थियों विशेषकर छात्राओं की चुन्नी उतरवा ली गईं। बालों में लगे हेयर पिन, नौज पिन और नेकलेस उतरवा गए। - छात्रा के परिजनों को ही इन ऑरनामेंट को उतारते देखा गया। कानों की बालियां व लौंग उतारने की मशक्कत मां-बाप दोनों ही करते नजर आए। जो छात्राएं व छात्र कलाइयों में मन्नत के धागे बांधे, पहुंचे वे सेंटर पर मौजूद स्टाफ ने कैंची से काट डाले। एक महिला कार्मिक चाकू से इन धागों को काटते नजर आई। धूप में नंगे पांव - बड़ी संख्या में छात्र जूते पहन कर केंद्र पर पहुंचे। केंद्र पर मौजूद स्टाफ ने ऐसे सभी छात्रों के जूते उतरवा लिए। मोजे भी नहीं पहनने दिया गया। केंद्र के मुख्य द्वार से परीक्षा हाल तक लंबी दूरी छात्रों को नंगे पांव ही तपती धूत में चलना पड़ा। मैटल डिटेक्टर से हुई जांच - केंद्रों पर विद्यार्थियों की जांच के लिए हैंड मेटल डिटेक्टरों की व्यवस्था की गई थी। प्रत्येक विद्यार्थी की जांच इन मेटल डिटेक्टर से की गई। छात्राओं की जांच के लिए महिला कार्मिकों की व्यवस्था की गई। कुछ सेंटरों पर मीडिया से दूरी - इधर शहर के ब्यावर रोड व नसीराबाद रोड पर स्थित एकाध परीक्षा केंद्र के परीक्षाधीक्षकों ने मीडिया को केंद्रों में प्रवेश करने नहीं दिया। इन केंद्रों पर विद्यार्थियों की जामा तलाशी भी मीडिया की नजर से बचा कर अंदर की गई। एक ही केंद्र पर 5 विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित - इधर माकड़ वाली राेड स्थित एक पब्लिक स्कूल में आए परीक्षा केंद्र पर एक साथ पांच विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गए। ये विद्यार्थी 9.30 बजे के बाद परीक्षा देने पहुंचे। इनमें तीन विद्यार्थी पाली जिले से और दो विद्यार्थी देवली से परीक्षा देने पहुंचे थे। - धनिष्ठा, भंवरलाल, नंदलाल गुर्जर, विनीता मीणा अौर कोमल मीणा अपने परिजनों के साथ केंद्र के बाहर मौजूद सुरक्षा गार्डों से उनके बच्चों को परीक्षा में बैठाने का आग्रह करते नजर आए। लेकिन इनमें से एक भी परीक्षा में नहीं बैठाया गया। - करीब 25 मिनट इंतजार के बाद ये सभी बच्चे अपने परिजनों के साथ वापस लौट गए। परीक्षा में नहीं बैठने का मलाल विद्यार्थियों के चेहरों पर साफ झलक रहा था। आधे धूप में आधे छांव में - इधर 8.30 बजे से विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र में एकत्रित करना शुरू कर दिया गया। लेकिन 9.30 बजे तक उन्हें स्कूल ग्राउंड में ही बैठाए रखा। जो बच्चे पहले पहुंच गए वे पेड़ों की छांव में बैठ गए, लेकिन बाद वाले विद्यार्थी धूप में ही बैठ कर परीक्षा हाल में जाने का इंतजार करते नजर आए। (ए) सुबह 7:30 बजे से 9:30 बजे तक प्रवेश। (बी) परीक्षक द्वारा प्रवेश पत्रों की जांच:9:30 बजे से 9:45 बजे तक (सी) टेस्ट बुकलेट का वितरण: 9:45 बजे सुबह (डी) टेस्ट बुकलेट की सील तोड़ी जा सकेगी, आंसर शीट खोलेंगे :0 9:55 बजे तक (ई) परीक्षा हाल में अंतिम प्रवेश : 9:30 बजे (एफ) टेस्ट शुरू होगा: 10:00 बजे (जी) टेस्ट समापन होगा दोपहर 1 बजे परीक्षा केंद्र में यह नहीं ले जा सकेंगे, ड्रेस कोड रहेगा लागू (a) किसी भी प्रकार का स्टेशनरी आइटम जैसे टेक्सटुअल मैटीरियल प्रिंटेड या लिखित, पेपर्स, ज्योमेट्री या पेंसिल बॉक्स, प्लास्टिक पाउच, कैलकुलेटर, पेन, स्केल, राइडिंग पेड, पेन ड्राइव, इरेजर , लॉग टेबल, इलेक्ट्रानिक पेन व स्कैनर आदि। (b)किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रानिक डिवाइस यथा मोबाइल फोन, ब्लू ट्रुथ, इयर फोन, माइक्रोफोन,पेजर और हेल्थ बैंड आदि (c) अन्य आइटम लाइक वायलेट, चश्में, हैंडबैग, बेल्ट, केप आदि। (d) सभी प्रकार के जेवरात यथा अंगूठी, ईयरिंग, नोज पिन, चैन, नेकलेस, बैज और ब्रोच आदि (e) किसी भी प्रकार की घड़ी, कलाई घड़ी, ब्रेसलेट और कैमरा आदि। (f) किसी भी प्रकार का मैटलिक आइटम। (g)किसी भी प्रकार की खाद्य सामग्री, डिब्बा बंद या खुला, पानी की बोतल आदि। (h) अन्य किसी भी प्रकार की सामग्री जो अन फीयर मेंस मे उपयोग में आती है, हिडन कम्यूनिकेशन डिवाइस, जैसे कैमरा, ब्लू ट्रुथ डिवाइस आदि। अनुचित साधन माना जाएगा - सीबीएसई ने साफ किया है कि किसी भी परीक्षा केंद्र पर किसी भी प्रकार के आइटम या आर्टिकल्स को रखने की व्यवस्था नहीं की गई है। यदि किसी भी परिस्थिति में परीक्षा केंद्र पर विद्यार्थी के पास प्रतिबंधित आइटम मिलता है,तो विद्यार्थी के खिलाफ अनुचित साधन के उपयोग का मामला बनाया जाएगा और उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। ड्रेसकोड - नीट यूजी 2017 में बैठ रहे विद्यार्थियों को सीबीएसई ने ड्रेस कोड के संबंध में ये दिशा-निर्देश जारी किए हैं- (a) आधी आस्तीन के हल्के रंगों के कपड़े, जिन पर बड़े बटन नहीं हों, कपड़ों पर बैच व फ्लावर नहीं हों, साथ ही सलवार व पेंट पहनने की हिदायत दी है। b) स्लीपर्स, सेंडल नीची हील वाली, जूते अलाव नहीं होंगे।

No comments :

Post a Comment