"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Tuesday, 25 April 2017

सूचना आयोग के निर्देश पर गठित टीम ने की स्कूल के खिलाफ शिकायतों की जाँच

No comments :

खटीमा। शोसल एक्टिविस्ट व आरटीआई कार्यकर्ता अजय नारायण शर्मा द्वारा महर्षि विद्या मंदिर सहित सीबीएसई से संबद्ध निजी स्कूलों द्वारा बरती जा रही अनीयमितताओं की शिकायत पर सूचना आयोग द्वारा चार सदस्सीय टीम गठित कर जांच के आदेश दिये जाने के बाद मंगलवार को जांच टीम ने विद्यालय पंहुचकर मामले की जांच पड़ताल कर प्रधानाचार्य व स्टाफ के बयान दर्ज किये। विदित हो कि आरटीआई कार्यकर्ता अजय नारायण शर्मा ने नगर स्थित महर्षि विद्या मंदिर स्कूल के खिलाफ पूर्व महिला अध्यापिका के उत्पीड़न करने, अध्यापिका को वर्ष 2008 मे प्रसूति अवकाश के दौरान स्थानान्तरण किये जाने, सीबीएसई द्वारा निर्धारित मानकों को पूरा न करने व विद्यालय मंे व्याप्त असुविधाओं सहित अन्य शिकायतें खंड शिक्षा अधिकारी से लेकर शिक्षा निदेशक स्तर तक भी की गई थी लेकिन कहीं से भी संतोषजनक उत्तर न मिलने पर उनके द्वारा सूचना आयोग में मामले को ले जाया गया। मामले को संज्ञान मे लेते हुए आयोग ने चार सदस्सीय टीम गठित कर मामले की जांच कर रिर्पोट आयोग के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। मंगलवार को मुख्य शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में गठित टीम ने महर्षि विद्या मंदिर स्कूल पंहुचकर जांच पड़ताल की और प्रधानाचार्य यूसी भट्ट के बयान दर्ज किये। टीम ने विद्यालय मंे बिजली, पानी, शौचालय आदि का सुविधाओं का निरीक्षण किया। टीम ने विद्यालय मंे लागू पाठ्यक्रमों का भी निरीक्षण किया। इस दौरान विद्यालय मंे कार्यरत महिला अध्यापिकाओं के भी बयान दर्ज किये गये। टीम में शामिल एसडीएम विजय नाथ शुक्ल ने कहा कि आयोग के निर्देश पर गठित जांच कमेटी मामले की जांच कर ली है जिसकी रिर्पोट आयोग के समक्ष प्रस्तुत जाएगी। उन्हांेने प्रधानाचार्य यूसी भट्ट से तीन दिन मंे सभी दस्तावेज जांच कमेटी को सांैपने के निर्देश दिये। आयोग के विशेष निर्देश पर जांच के दौरान अपील कर्ता अजय नारायण शर्मा भी मौजूद थे और पूरी जांच प्रक्रिया की वीडियो ग्राफी भी की गयी। इस दौरान मुख्य शिक्षाधिकारी पीएन सिंह, खण्ड शिक्षाधिकारी सितारगंज गोपाल राम आर्य, सोनी मेहरा, प्रधानाचार्य सुर्दशन चन्द्र वर्मा आदि मौजूद थे। जांच के उपरांत पत्रकारों से वार्ता करते हुए अजय नारायण शर्मा ने कहा कि आठ वर्षों के संघर्ष के पश्चात यह उनकी पहली सफलता है। उन्होंने कहा कि महर्षि एक शुरूआत है और आगे चलकर वे खटीमा सहित पूरे प्रदेश में निजी स्कूलों की मनमानी तथा शिक्षा के व्यवसायी करण के खिलाफ और मजबूती से लड़ाई लड़ेंगे।

No comments :

Post a Comment