"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"

BREAKING NEWS:-देवभूमि का मर्म आपका हार्दिक स्वागत करता है

Friday, 21 April 2017

परिवहन विभाग की काहिली से लोगों की जान आफत में

No comments :

खटीमा देवभूमि का मर्म सहित कई समाचार पत्रों द्वारा कई बार इस आशय के समाचार फोटो सहित प्रकाशित किये जाने के बावजूद परिवहन विभाग कुंभकर्णी नींद से नहीं जागा जिसका दुष्परिणाम तब देखने को मिला जब परिवहन विभाग की काहिली के चलते आधा दर्जन लोगों की जान पर बन आई क्योंकि तेज गति से जा रहा ओवर लोड़ टैम्पू पलट गया। जिसमें 6 यात्री गम्भीर रूप से घायल हो गये। 2 यात्रियो की हालत गम्भीर देखते हुए उन्हे अन्यत्र रेफर कर दिया। आपातकालीन सेवा ने सभी घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। शुक्रवार को मझोला से टैम्पू संख्या यूके06 टीए 2822 सवारी भरकर खटीमा आ रहा था कि अचानक चारूबेटा आरटीओं चेक पोस्ट के पास अनियंत्रित होकर पलट गया। टैम्पों के पलटने से यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। टैम्पों के पलटते ही आसपास के ग्रामीण वहां पंहुच गये और टैम्पों के अंदर फसें यात्रियों को बाहर निकाला। स्थानीय लोगों ने टैम्पों पलटने की सूचना आपातकालीन सेवा 108 को दी। मौके पर पंहुची आपातकाल सेवा ने घायल जमौर निवासी सुषील कुमार (24) महनाज (23) चम्पावत निवासी अंकित (16) डूनीडाम निवासी दुर्गा (24) शेरपुर निवासी जाविन (18) व टोडरपुर न्यूरिया निवासी जीवंती को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। यात्रियों ने बताया कि टैम्पू में चालक ने 16 सवारियां बैठा रखी थी। व टैम्पू चालक काफी तीब्र गति से चला रहा था। पन्द्रह दिनों के अन्दर इसी मार्ग पर टैम्पू पलटने की यह दुसरी घटना है। बीते 4 अप्रैल को सत्रहमील चैराहे पर ओवर लोड़ टैम्पू पलटने से 5 यात्री घायल हो गये थे। लाख प्रयासों के बाद भी परिवहन विभाग ओवर लोड़ टैम्पूओं के खिलाफ कार्रवाई करने की जहमत नही उठा रहा है। घटना घटित होनेे के बाद परिवहन विभाग ओवर लोड वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कहकर पल्ला झाड़ लेता है। वही परिवहन विभाग द्वारा टैम्पू चालको को 3 सवारी बैठने की अनुमति दी गई है। बावजूद इसके टैम्पू चालक 16 से 18 सवारियों को बैठाकर उनकी जान जोखिम में तो डाल ही रहे है साथ ही इनके द्वारा यात्रियों से अभद्रता भी की जाती है जिस तरह परिवहन विभाग व पुलिस इन टैम्पू चालकों की मनमानी पर सब कुछ जानते हुए भी अंजान बने रहते हैं उससे जनता की इन बातों को बल मिलता है कि पुलिस और परिवहन विभाग से मिलीभगत के चलते ही टैम्पू चालकों द्वारा लोगों की जान से खिलवाड़ हो रहा है.

No comments :

Post a Comment