देवभूमि का मर्म

"खटीमा (उत्तराखंड) से प्रकाशित साप्ताहिक समाचार पत्र"


BREAKING NEWS:-हमारी वेबसाइट पर विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें 9719069776

Games

Tuesday, 22 November 2022

सुप्रीम कोर्ट भी चाहता है टी एन शेषन जैसा चुनाव आयुक्त

No comments :
चुनाव आयोग पर सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणी आई है।सुप्रीम कोर्ट ने कल कहा था कि ''जमीनी स्थिति खतरनाक है'' और वह दिवंगत टी एन शेषन जैसा सीईसी चाहती है, जिन्हें 1990 से 1996 तक चुनाव आयोग के प्रमुख के रूप में महत्वपूर्ण चुनावी सुधार लाने के लिए जाना जाता है.चुनाव आयुक्तों की नियुक्ति की प्रणाली में सुधार की मांग वाली एक याचिका पर न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ सुनवाई कर रही थी.इस पीठ में जस्टिस अजय रस्तोगी, अनिरुद्ध बोस, हृषिकेश रॉय और सीटी रविकुमार भी शामिल हैं. पीठ ने कहा कि उसका प्रयास एक प्रणाली को स्थापित करना है ताकि "सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति" को सीईसी के रूप में चुना जा सके.अदालत ने कहा कि "अब तक कई सीईसी रहे हैं, मगर टीएन शेषन जैसा कोई कभी-कभार ही होता है. हम नहीं चाहते कि कोई उन्हें ध्वस्त करे. तीन लोगों (सीईसी और दो चुनाव आयुक्तों) के नाजुक कंधों पर बड़ी शक्ति निहित है. हमें सीईसी के पद के लिए सबसे अच्छा व्यक्ति खोजना होगा.अदालत ने केंद्र की ओर से पेश अटार्नी जनरल आर वेंकटरमणी से कहा, 'महत्वपूर्ण यह है कि हम काफी अच्छी प्रक्रिया अपनाएं, ताकि सक्षमता के अलावा मजबूत चरित्र वाले व्यक्ति को सीईसी के रूप में नियुक्त किया जा सके.'जमीनी स्थिति चिंताजनक है. हम जानते हैं कि सत्ता पक्ष की ओर से विरोध होगा और हमें मौजूदा व्यवस्था से आगे नहीं जाने दिया जाएगा." अदालत ने साथ ही कहा कि वह यह नहीं कह सकती कि वह असहाय है.कोर्ट ने यह टिप्पणी, केंद्र द्वारा सीईसी और चुनाव आयुक्तों के चयन के लिए कॉलेजियम जैसी प्रणाली की मांग करने वाली दलीलों के एक समूह का कड़ा विरोध करने के बाद आया है. केंद्र सरकार ने कहा कि इस तरह के किसी भी प्रयास से संविधान में संशोधन करना पड़ेगा.

Tuesday, 8 November 2022

जन्मदिन पर हिला प्रदेश

No comments :
उत्तराखंड के स्थापना दिवस के मौके पर आज भोर होने से पहले 1 बजकर 57 मिनट पर धरती डोल उठी, हालिया जानकारी के मुताबिक भूकंप का केन्द्र नेपाल के कलुखेती में था और इसकी तीव्रता 5.7 मेग्निट्युट थी, भूकंप से भारत के अलावा नेपाल और चीन भी प्रभावित हुए हँ, भूकंप से होने वाले नुक्सान का विवरण अभी नहीं मिल सका है

Tuesday, 18 October 2022

सावधान रहें, फिर पैर पसार रहा है कोरोना

No comments :

नई दिल्ली : ओमिक्रोन के सब वेरियंट BF.7 की भारत मे भी मिलने की पुष्टि के बाद आशंका है कि कोविड के केस फिर से बढ़ सकते हैं. इधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस वायरस के सब वेरियंट के खतरे को लेकर आज स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में दिवाली से पहले कोरोना को लेकर जरूरी एहतियात और सतर्कता बरतने पर जोर दिया गया.

बता दें कि भारत में एक अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रोन सब वेरियंट BF.7 का पता चला है. BF.7 वेरियंट पहले चीन में पाया गया था और अब यह संयुक्त राज्य अमेरिका, यूके, ऑस्ट्रेलिया और बेल्जियम में पहुंच गया है. सब-वेरिएंट पहले मामले का गुजरात में पता चला था, जिसकी पुष्टि गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर ने की थी और इसे 'ओमाइक्रोन स्पॉन' के रूप में वर्णित किया गया था.सब वेरियंट BF.7 को लेकर चिंता है क्योंकि यह पिछले संक्रमणों और टीकों से प्रतिरक्षा को पार कर सकता है. 

पू

रे चीन में मामले BF.7 वैरिएंट से शुरू हुए हैं. वास्तव में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अत्यधिक संक्रामक BF.7 COVID सबवेरिएंट के खिलाफ चेतावनी दी थी. इसने सबवेरिएंट के एक नए प्रमुख संस्करण बनने की भी उम्मीद की है.

Monday, 17 October 2022

वैश्विक काँफ्रेंस में देश विदेश के कृटिकल चिकित्सा विशेषज्ञों के 200 से अधिक व्याख्यान

No comments :
बरेली /रामनगर: श्री राम मूर्ति स्मारक इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित कंप्रिहेंसिव क्रिटिकल केयर की चार दिवसीय दूसरी वैश्विक कांफ्रेंस का रामनगर में शानदार समापन हुआ। जिसमें तीसरे और चौथे दिन 110 से ज्यादा व्याख्यान दिए गए। पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया, पद्मविभूषण डा. बीके राव, डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.माइकल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) के व्याख्यानों को सभी विशेषज्ञों ने सराहा। शनिवार दोपहर बाद वैश्विक कांफ्रेंस का समापन हुआ। इस अवसर पर सभी  डेलीगेट्स ने वैश्विक कांफ्रेंस के लिए एसआरएमएस मेडिकल कालेज, प्रबंधन और यहां के स्टाफ को बधाई दी और रामनगर से वापस हुए। चार दिवसीय वैश्विक कांफ्रेंस में दो सौ से ज्यादा व्याख्यान दिए गए।
वैश्विक कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग कमेटी के सेक्रेटरी और एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभागाध्यक्ष डा.ललित सिंह ने बताया कि कांफ्रेंस का साइंटिफ प्रोग्राम रामनगर में आयोजित हुआ। इससे पहले “सेप्सिस” विषय की थीम पर 13 अक्टूबर को शुरू हुई इस वैश्विक कांफ्रेंस के पहले और दूसरे दिन का कार्यक्रम एसआरएमस मेडिकल कालेज में हुआ था। पहले दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिटिकल केयर विशेषज्ञों की मौजूदगी में क्रिटिकल केयर रिव्यू कोर्स, हीमोडायनोमिक मानीटरिंग, मैकेनिकल वेंटीलेशन, प्वाइंट आफ केयर अल्ट्रासाउंड और नर्सिंग केयर विषय पर पांच वर्कशाप आयोजित हुईं। क्रिटिकल केयर रिव्यू कोर्स के अलग अलग टापिक पर चार सत्रों में तीन दर्जन से ज्यादा विशेषज्ञों ने अपनी राय रखी। वैश्विक कांफ्रेंस का औपचारिक उद्घाटन दूसरे दिन 14 अक्टूबर को नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार हॉस्पिटल्स के अध्यक्ष पद्मविभूषण डा. बीके राव, मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल से डा. जे.वी. दिवातिया और डा.प्रवीण अमीन, डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.माइकल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया) और डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) की मौजूदगी में एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया ने किया।
इस मौके पर जेएनयू अस्पताल जयपुर से डॉ नरेंद्र रूंगटा, एआईसीसीएम के नेशनल प्रेसिडेंट डा.राजेश कुमार मिश्रा, पूर्व प्राचार्य और डीन सीएसजेयू कानपुर डा.एसके कटियार मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल के डा.प्रवीण अमीन, सर गंगाराम हास्पिटल के डा. बनाम्बर रे, डा.जया कुरुविला, एएमयू के डा.सैयद मोइद अहमद, शांतिवेद आईएमएस आगरा की डा.दीप्तिमाला अग्रवाल, सिनर्जी प्लस हास्पिटल आगरा के डा.रणवीर त्यागी, एसआरएमएस मेडिकल कालेज के डायरेक्टर आदित्य मूर्ति, प्रिंसिपल डा.एसबी गुप्ता, वैश्विक कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग कमेटी के सह सचिव डा.राजीव टंडन और डा.गीता कार्की, ज्वाइंट सेक्रेटरी डा.विमल भारद्वाज, डा.अनीस बेग, डा.गजेंद्र पाल सिंह, डा.निपुन अग्रवाल, डा.धीरज सक्सेना, डा.संजीव शर्मा, डा.मनोज गुप्ता, डा.मोहम्मद तारिक, एडिटर डा.पियूष कुमार, ट्रेजरार डा. यतिन मेहता मौजूद रहे।

Sunday, 16 October 2022

टी 20 विश्वकप में बड़ा उलटफेर, एशिया कप चैंपियन श्रीलंका को नामीबिया ने बड़े अंतर से हराया

No comments :
 टी 20 विश्व कप के लीग मैच में बड़ा उल्टफेर् करते हुए नामीबिया ने एशिया कप विजेता श्रीलंका को 55 रनो के बड़े अंतर से हरा दिया, 163 रन का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम केवल 108 रन ही बना सकी. इस तरह से नामीबिया ने श्रीलंका को 55 रनों से हराकर टू्र्नामेंट का धमाकेदार आगाज कर दिया है.  श्रीलंका के खिलाफ नामीबिया ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 7 विकेट पर 163 रन बनाए. नामीबिया की ओर से जे जे स्मिट और जान फ्राइलिंक ने कमाल की पारी खेली जिसके दम पर टीम 162 रन 20 ओवर में बना पाने में सफल रहे. जे जे स्मिट ने 16 गंद पर 31 रन बनाए तो जान फ्राइलिंक ने 28 गेंद पर 44 रन की पारी खेली. श्रीलंका को 164 रन का टारगेट मिला है. श्रीलंका की ओर से  प्रमोद मदुशनी ने 2 विकेट लिए तो वहीं चमीरा,  महेश थेक्षाना  के खाते में 1-1 विकेट आया. इससे पहले  श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया है. बता दें कि सुपर 12 में पहुंचने के लिए श्रीलंका को क्वालीफाइंग मुकाबले के अपने मैच जीतने होंगे. क्वालीफाइंग राउंड से 4 टीमें सुपर 12 के लिए क्वालीफाई करेगी

Monday, 10 October 2022

चार दिवसीय गहन चिकित्सा की वैश्विक काँफ्रेंस में पहुँचेंगे देश विदेश के नामी चिकित्सक

No comments :
बरेली और रामनगर के जिम कार्बेट में गहन चिकित्सा पर होने वाली चार दिवसीय वैश्विक काँफ्रेंस में देश विदेश के नामी चिकित्सक जुटने जा रहे हैं,आर्गनाइजिंग सेक्रेटरी और एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डा.ललित सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह वैश्विक कांफ्रेंस इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर की ओर से एस.आर.एम.एस. मेडिकल कालेज के रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित की जा रही है। इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर को दुनिया भर के सभी देश मान्यता देते हैं। 13 से आरंभ होने वाली इस अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में पहली बार डा.मिशेल लेवी (अमेरिका), डा.रूपन आर्य (यूके), डा.क्वीरिनो पासिवोली (इटली), डा.मिशेल ओ लेरी (आस्ट्रेलिया), डा.महर अल बहरानी (ओमान), डा.फारिअल अली खामीस (ओमान), डा.संदीप कंतूर (ओमान), डा.प्रशांत नासा (दुबई), डा.लिलांथी सुबासिंघे (श्रीलंका) जैसे क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ वैश्विक कांफ्रेंस में शामिल होने आ रहे हैं। इसमें अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हमारे नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फार हॉस्पिटल्स के अध्यक्ष पद्मविभूषण डा. बीके राव और एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया, एम्स बठिंडा के निदेशक डा.डीके सिंह, नई दिल्ली के पीएसआरआई पल्मोनरी इंस्टीट्यूट, क्रिटिकल केयर एंड स्लीप मेडिसिन से डा. गोपी चंद खिलनानी, बॉम्बे हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर से डा. प्रवीण अमीन, मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल से डा. जे.वी. दिवातिया, नई दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल से डा. राजेश चावला, जेएनयू अस्पताल जयपुर से डॉ नरेंद्र रूंगटा, मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल व चिकित्सा अनुसंधान केंद्र से डा.खुशराव बजन जैसे विशेषज्ञों के साथ देश भर से करीब पांच सौ से ज्यादा विशेषज्ञ डाक्टरों ने भी वैश्विक कांफ्रेंस में आने की सहमति दे दी है। कांफ्रेंस का विषय “सेप्सिस” रखा गया है। इसके साइंटिफिक प्रोग्राम में सेप्सिस के पूरे स्पेक्ट्रम को कवर करते हुए भारत और विदेश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक और चिकित्सक शोधपत्र के जरिये अपनी प्रस्तुतियां देंगे। चार दिवसीय दूसरी वैश्विक कांफ्रेंस 13 अक्टूबर को वर्कशाप के साथ आरंभ होगी। इसका औपचारिक उद्घाटन 14 अक्टूबर दोपहर एक बजे एम्स नई दिल्ली के निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया करेंगे। 15 और 16 अक्टूबर को कांफ्रेंस कम वर्कशाप रामनगर के जिम कार्बेट नेशनल पार्क स्थित रिवर व्य् रीट्रीट और वुड कैसल में आयोजित होगी। कांफ्रेंस में पांच वर्कशाप आयोजित होंगी। वैश्विक कांफ्रेंस में नामचीन विशेषज्ञों के आने की बदौलत ही इंडियन मेडिकल काउंसिल (आईएमसी) ने इसे 12 घंटे क्रेडिट दिया है। किसी कांफ्रेंस को अब तक इतने घंटे का क्रेडिट नहीं दिया गया। आईएमसी के नियमानुसार सभी चिकित्सकों को प्रति वर्ष छह घंटे ऐसी वर्कशाप या कांफ्रेंस में शामिल होना जरूरी हैं। तभी वह अपग्रेडेशन के लिए योग्यता हासिल करते हैं। ऐसे में इस वैश्विक कांफ्रेंस का महत्व बढ़ जाता है।

आफत की बारिस ने यहाँ लील ली जिंदगी

No comments :
 आफत बन कर बरस रही बारिस ने प्रदेश में बुरा हाल कर रखा है, किसानों की पकी हुई फसल चौपट हो चुकी है,कई सड़के बंद हैं तो अनेक स्थानों पर भूस्खलन से लोगो को नुक्सान हुआ हैअल्मोड़ा जिले के सल्ट के पीपना गांव में लक्ष्मण सिंह ( 55 वर्ष) के मकान के पिछले हिस्से में मध्यरात्रि बाद पहाड़ी दरक गई।जिसकी चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। हादसे के समय लक्ष्मण सिंह की पत्नी और पुत्र दूसरे मकान में सोने चले गए थे। इससे उनकी जान तो बच गई मगर आफत की बारिस ने महिला का सुहाग व पुत्र के सिर से पिता का साया छीन लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मलबे में दबे शव को निकालकर पोस्टमार्टम को भेजा। घटना से मृतक के परिजनों में कोहराम मचा है।